Hindi short story with moral & images

Welcome to storyinstatus. Here we share short story in hindi and english, short moral stories in hindi and english with pictures. Keep Visting!!

The Cunning Fox And The Crow

यह कहानी एक चालाक, तेज लोमड़ी और मूर्ख कौए के बारे में है कि कैसे लोमड़ी ने गलत प्रशंसा करके कौए को बेवकूफ बनाया। This story teaches about:

  • The dangers of excessive praise,
  • Not to fall in wrong praise.

 

  • चालोमड़ी और कौवा की कहानी
  • अर्जुन: द आई ऑफ द स्पैरो स्टोरी
  • बरदराज की कहानी

The Cunning Fox And The Crow

(stories in hindi for kids)

चालाक लोमड़ी और कौवा की कहानी

एक बार की बात है एक कौआ था। वह भूखी अवस्था में इधर-उधर घूम रहा था। अचानक उसे कूड़ेदान में रोटी का एक टुकड़ा मिला। वह बहुत खुश हो गया। उसने रोटी का एक टुकड़ा उठाया, और जल्दी से उड़कर एक पेड़ की शाखा पर जा बैठा।

short story in hindi with pictures

short stories in hindi for kids with pictures

अचानक एक लोमड़ी वहाँ पहुँची। लोमड़ी ने भी कई दिनों से खाना नहीं खाया था।रोटी के टुकड़े को देख कर लोमड़ी के मुंह में पानी आ गया और उसने रोटी का एक हिस्सा मांगा। पर कौवे ने रोटी में हिस्सा देने साफ इनकार कर दिया। लेकिन लोमड़ी बहुत चालाक थी। वह जानती थी, कि कौवे को अपने जाल में कैसे फँसाया जाए।

(moral stories in hindi)

short stories in hindi with images for kids with pictures

उसके शैतानी दिमाग में एक विचार आया। वह कौए की प्रशंसा करने लगी। उसने कौवे से कहा, “तुम्हारी आवाज़ बहुत प्यारी है, तुम कोकिला से ज्यादा खूबसूरत गाते हो “क्या आप मेरे लिए एक गाना गा सकते हैं?” लोमड़ी की इस तारीफ को सुनकर कौआ बहुत खुश हो गया। और उत्साह के साथ उन्होंने एक गीत गाना शुरू कर दिया। और रोटी का टुकड़ा जमीन पर गिर गया। चालाक लोमड़ी  ने इसे उठाया और खुशी से की और जंगल  भाग गया।

Moral of the story:

हमें कभी भी गलत प्रशंसा में नहीं पड़ना चाहिए।

Not to fall in wrong praise.

 

Arjuna: The Eye of the Sparrow Story

अर्जुन: द आई ऑफ द स्पैरो स्टोरी

(moral stories for kids in hindi)

यह महाकाव्य/ कहानी पवित्र पुस्तक “महाभारत” से लिया गया है। एक दिन राजकुमार अर्जुन अपने चचेरे भाई भाइयों के साथ प्रभावशाली शिक्षक “द्रोणाचार्य” के अधीन तीरंदाजी सीख रहे थे। गुरु “द्रोणाचार्य” राजकुमार के कौशल का परीक्षण करना चाहते थे, इसके लिए उन्होंने लकड़ी की एक गौरैया ली और उसे एक पेड़ की शाखा पर रख दिया। अपने शिष्यों को एक-एक करके आने को कहा और उन्हें इस गौरैया की आंख में निशाना लगाने को कहा।

(short story in hindi)short stories in hindi for kids with pictures

पहले राजकुमार आए, उन्होंने द्रोणाचार्य को नमस्कार किया और द्रोणाचार्य ने  गौरैया पर साधने के लिए कहा। और गुरु द्रोणाचार्य ने अपने शिष्य से पूछा कि तुम्हें क्या दिखाई देता है?

शिष्य: वृक्ष, शाखा, आकाश

द्रोणाचार्य ने दूसरे राजकुमार को बुलाया, और उसे निशाना साधने के लिए कहा। और पूछा कि तुम्हें क्या दिखाई देता है?

शिष्य: आकाश, पत्ते, सूर्य देव, वृक्ष

सभी ने आकर वही जवाब दिया -वृक्ष, शाखा, आकाश, पत्ते, सूर्य देव

गुरु द्रोणाचार्य ने अर्जुन को बुलाया और उसे निशाना साधने के लिए कहा और पूछा कि तुम्हें क्या दिखाई देता है

अर्जुन ने उत्तर देते हुए कहा – “गौरैया की आंख”

Moral of The Story:

“जब भी आप कुछ हासिल करना चाहते हैं, तो अपनी आँखें खुली रखें, ध्यान केंद्रित करें और सुनिश्चित करें कि आपको पता है कि आप क्या चाहते हैं। कोई भी अपने लक्ष्य को अपनी आंखें बंद करके नहीं मार सकता है। ”

 

The story of Baradaraj

बरदराज की कहानी

एक बार की बात है, एक लड़का था जिसका नाम बरदराज था। वह अन्य शिष्यों के साथ आश्रम में रहता था। उन दिनों शिष्य आश्रम में ही शिक्षा ग्रहण किया करते थे। बरदराज भी आश्रम में रहा करता था। वह अन्य शिष्यों से अलग था। वह पढ़ने – लिखने में बहुत कमजोर था। इसके कारण अन्य शिष्य उसका मजाक उड़ाया करते थे। और शिक्षा में निपुण ना होने के कारण एक  दिन तो उनके उनके गुरु में उन्हें आश्रम से जाने के लिए कहा।  यह सुनकर बहुत दुखी है और अपने घर की ओर चल पड़े।

short stories hindi for kids with pictures

घर वापस जाते समय उन्हें अपने मार्ग में एक कुआँ दिखाई दिया। अचानक उनकी नजर कुए की मेंड  पर रस्सी से निशान पडते देखा तो उन्होंने सोचा कि यदि रस्सी से पत्थर पर निशान पड़ सकते हैं, तो बार-बार अभ्यास करके, मैं शिक्षा में निपुण क्यों नहीं हो सकता?

और वह वापस अपने आश्रम की ओर गए और उन्होंने अपनी सारी कहानी अपने गुरु को सुनाई। इस निष्ठा को देखकर उनके गुरु ने उन्हें वापस पढ़ाने का विचार किया, और आगे चलकर बरदराज एक प्रकांड महान पंडित बने।

Moral of the story:

अभ्यास में इतनी शक्ति होती है कि वह मनुष्य को सफलता की ओर ले जाता है

 

 “उठो, जागो, और तब तक नहीं रुकना जब तक लक्ष्य पूरा न हो जाए।” स्वामी विवेकानंद

“A man is but the product of his thoughts. What he thinks he becomes.” Mahatma Gandhi

Read More

Best Motivational Status With Images And Quotes

Short story with images ” The Lazy Donkey And The Farmer”{English}

Best Attitude Status Images for WhatsApp

Tags: short story in hindi for kids, short story in hindi with moral.

5 8 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x